ट्रैक्टर रैली हिंसा: योगेंद्र यादव समेत 20 नेताओं से दिल्ली पुलिस ने मांगा जवाब, जानें अबतक क्या-क्या हुआ

0
129

26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा को लेकर पुलिस और प्रशासन काफी सख्ती कर रहे हैं। अभिनेता-कार्यकर्ता दीप सिद्धू, जिनपर हिंसा का आरोप लगाया गया है, उनका नाम दिल्ली पुलिस की एफआईआर में शामिल है। पुलिस का कहना है कि उन्हें जल्द ही पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा। मंगलवार शाम से पुलिस द्वारा दर्ज 25 से अधिक मामलों में कुछ किसान नेताओं के भी नाम शामिल हैं। जहां पुलिस किसानों को ट्रैक्टर रैली के लिए सहमत नियमों का उल्लंघन करने का जिम्मेदार ठहरा रही है, जिसके कारण कई स्थानों पर पुलिस और किसानों के बीच झड़प हुई थी। वहीं किसानों का कहना है कि यह उनके शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन को विफल करने की साजिश थी। किसानों ने बजट सत्र के दौरान संसद तक मार्च करने की अपनी योजना को स्थगित कर दिया है। वहीं लाल किला जहां प्रदर्शनकारियों ने उत्पाद मचाया था उसे अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है। यहां पढ़ें इस मामले में अबतक क्या-क्या हुआ-

  • जिन किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है उनके खिलाफ दिल्ली पुलिस लुकआउट नोटिस जारी करेगी। इसके अलावा पुलिस किसान नेताओं के पासपोर्ट सरेंडर करने की भी प्रक्रिया शुरू करेगी।
  • दिल्ली में 26 जनवरी के दिन हुई हिंसा में 300 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।  गृहमंत्री अमित शाह आज इन घायल पुलिसवालों से मिलने अस्पताल पहुंचे।
  • दिल्ली पुलिस ने योगेंद्र यादव, बलदेव सिरसा और बलबीर एस राजेवाल समेत कम से कम 20 किसान नेताओं को ट्रैक्टर रैली के समझौते को तोड़ने को लेकर नोटिस भेजा है। इस पर उन्हें जवाब के लिए तीन दिन दिए गए हैं।
  • किसान नेताओं के एक वर्ग ने पंजाबी अभिनेता और कार्यकर्ता दीप सिद्धू पर झड़पों को उकसाने और लाल किले में सिख धार्मिक झंडा लगाने का आरोप लगाया है। बुधवार रात को फेसबुक पर एक वीडियो जारी कर सिद्धू ने कहा, यदि मुझे गद्दार बताया जा रहा है तो सभी किसान नेता गद्दार हैं। यदि आप दावा करते हैं कि मेरे द्वारा हजारों लोगों को उकसाया गया, तो आप किस तरह के नेता हैं?
  • दिल्ली पुलिस किसान नेताओं की गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा में भूमिका की जांच कर रही है। रैली के मार्ग और समय के बारे में पुलिस के साथ हुए समझौते के कथित उल्लंघन को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा के नेता दर्शन पाल को नोटिस भेजा गया है।
  • 26 जनवरी की हिंसा के बाद टिकरी बॉर्डर पर बड़ी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किए गए हैं। हालांकि इसके बाद भी कृषि कानूनों के खिलाफ टिकरी बॉर्डर पर किसानों का विरोध-प्रदर्शन जारी है।
  • गाजियाबाद में सभी थानों में पुलिस को अलर्ट रहने के लिए कहा गया है। हर थाना पुलिस को निर्देश दिया गया है कि बॉडी प्रोटेक्टर व हेलमेट के साथ तैयार रहें। यूपी गेट पहुंचने से 15 मिनट पहले निर्देश दिया जाएगा।
  • बुधवार को दिल्ली पुलिस द्वारा किसान नेताओं पर एफआईआर दर्ज करने के बाद रात को यूपी गेट का नजारा कुछ अलग ही दिखाई दिया। बुधवार की रात 50-60 किसान पूरी रात बारी-बारी से पहरा देते रहे।
  • दिल्ली मेट्रो ने एहतियात के तौर पर आज लाल किला मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकास दोनों द्वार बंद रखने की सूचना दी है, वहीं जामा मस्जिद स्टेशन का प्रवेश द्वार भी आज बंद रहेगा। अन्य सभी स्टेशन व रूट पर मेट्रो की सेवाएं सामान्य रूप से चल रही हैं।
  • केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘उन सभी के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए, जिन्होंने दूसरों को उकसाया था। भारत इस मामले को बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं करेगा जिसमें लाल किले पर तिरंगे का अपमान किया गया।’ कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस भारत में अशांति की स्थिति पैदा करना चाहती है।’
  • कांग्रेस ने कहा कि हिंसा के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जिम्मेदार हैं और उन्हें तुरंत बर्खास्त कर देना चाहिए। पार्टी के वरिष्ठ नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा किसानों के आंदोलन को विफल करने के लिए एक संगृहीत षड्यंत्र रचा जा रहा है और वे उनकी मांगों को दबाना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY