वृंदावन से आचार्य नीरज पराशर जी से जाने अपना आने वाला समय और समाधान निशुल्क

0
173

*जन्मे अपना आनेवाल समय एवं समाधान*
—————————–
जन्म पत्रिका और हस्त रेखाओं के अध्ययन से व्यक्ति के स्वास्थ्य और बीमारी के बारे में अनुमान लगाया जाता है। जन्मपत्री में प्रथम भाव “लग्न” व्यक्ति की आयु और सेहत को दर्शाता है। जब लग्न, लग्न भाव के स्वामी के साथ-साथ सूर्य, चंद्रमा, शनि और तृतीय व अष्टम भाव और इनके स्वामी मजबूत हों तो, व्यक्ति को दीर्घायु एवं उत्तम स्वास्थ्य की प्राप्ति होती है। वहीं यदि इन घटकों पर क्रूर ग्रहों का प्रभाव हो या कमजोर हों, तो यह स्थिति व्यक्ति की अल्पायु को दर्शाती है। हथेली में जीवन रेखा बाएं हाथ में टूटी हुई हो, और दाहिने हाथ में साफ तथा सुस्पष्ट है। तब यह कुछ गंभीर बीमारी का संकेत है। परन्तु अंतत: बीमारी ठीक हो जाती है। लेकिन यदि जीवन रेखा दोनो हाथ मे टूटी हुई हो, तो व्यक्ति की मृत्यु तक हो सकती है।

यह वक़्त (Covid 19) भी गुजर रहा है, मुश्किल वक्त में अपने आपको अकेला ना समझे, जन्म तारीख जन्म समय एवं जन्म स्थान और हाथो की फोटो निशुल्क ज्योतिष सलाह के लिए हमे व्हाट्सप्प करे मो. नं. 9897565893
देखने का समय दोपहर 1 से 3 बजे तक

LEAVE A REPLY