किसान को पुलिस की गोली लगने की अफवाह फैलाना पड़ा महंगा! शशि थरूर सहित कई पत्रकारों पर राजद्रोह का केस!

0
91
दिल्ली में फैली हिंसा को भड़काने और पुलिस द्वारा एक आंदोलनकारी किसान की हत्या की खबर को ट्वीट करने के मामले में कांग्रे​स सांसद शशि थरूर, न्यूज एंकर राजदीप सरदेसाई, नैश्नल हेराल्ड ग्रुप की सम्पादकीय सलाहकार मृणाल पाण्डेय और कई पत्रकारों जिनमें जफर आगा, परेशनाथ, अनन्तनाथ , विनोद के जोस के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।

नोएडा
सोशल मीडिया (Social Media) के जरिए अफवाह फैलाकर प्रदर्शनकारियों को भड़काने की कोशिश करने के आरोप में कांग्रेस सांसद शशि थरूर समेत कई पत्रकारों पर राजद्रोह सहित गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया गया है। बता दें कि गणतंत्र दिवस के दिन अफवाह फैली थी कि पुलिस की गोलियों से मरकर किसान की मौत हो गई है, जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने उपद्रव होकर हंगामा किया।

दरअसल, शिकायकर्ता ने 26 जनवरी पर दिल्ली में फैली हिंसा को भड़काने और पुलिस द्वारा एक आंदोलनकारी किसान की हत्या की खबर को ट्वीट करने के मामले में कांग्रेस सांसद शशि थरूर, न्यूज एंकर राजदीप सरदेसाई, नैश्नल हेराल्ड ग्रुप की सम्पादकीय सलाहकार मृणाल पाण्डेय और कई पत्रकारों जिनमें जफर आगा, परेशनाथ, अनन्तनाथ , विनोद के जोस के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।

राजद्रोह सहित कई गंभीर धाराओं में मामला दर्ज
पूरे मामले को लेकर गौतम बुद्ध नगर पुलिस ने कई गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज की है जिनमें राजद्रोह, हिंसा भड़काने, आशांति फैलाने तथा आई टी एक्ट की धाराएं भी शामिल हैं। गौरतलब है कि दिल्ली में मंगलवार को हुए बवाल के दौरान एक किसान की मौत हो गई थी।

क्या था पूरा मामला
दिल्ली में मंगलवार को हुए बवाल के दौरान एक किसान की मौत हो गई थी। आंदोलनरत किसानों ने आरोप लगाया था कि किसान की मौत पुलिस की गोली लगने से हुई है। इसको लेकर काफी हंगामा भी हुआ, लेकिन किसान की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मामले का खुलासा हुआ। जिसमें किसान की मौत गोली लगने से नहीं बल्कि ट्रैक्टर के पलटने से आई चोटों के कारण हुई थी।

LEAVE A REPLY