जाट वोट, पंचायत चुनाव…यूपी सरकार के लिए चैलेंज होगी टिकैत से सीधी जंग

0
55

गाजीपुर बॉर्डर पर राकेश टिकैट की आंखों से छलके आंसुओं के बाद 115 किलोमीटर दूर मुजफ्फरनगर में बैठे भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष और उनके बड़े भाई नरेश टिकैत ने उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है.

कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली-उत्तर प्रदेश के गाजीपुर बॉर्डर पर दो महीने से चल रहे किसान आंदोलन को गुरुवार को यूपी प्रशासन ने बोरिया बिस्तर समेटना का अल्टीमेटम दे रखा था. आंदोलन स्थल पर पुलिस व फोर्स की मौजूदगी और योगी सरकार के आंख दिखाते ही पश्चिम यूपी की सियासी तपिश बढ़ गई. गाजीपुर बॉर्डर पर कि जान दे देंगे लेकिन आंदोलन खत्म नहीं करेंगे. इतना कहते ही पूरा माहौल कुछ देर पलट गया.

गाजीपुर बॉर्डर पर राकेश टिकैट की आंखों से छलके आंसुओं के बाद 115 किलोमीटर दूर मुजफ्फरनगर में बैठे भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष और उनके बड़े भाई नरेश टिकैत ने उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है. टिकैत के पैतृक गांव मुजफ्फरनगर के सिसौली में राकेश टिकैत के घर बाहर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा है. गाजीपुर बॉर्डर से जो किसान लौट आए थे, वे वापस दिल्ली आंदोलन में जाने की बातें करने लगे. माना जा रहा  है कि पश्चिमी यूपी की बढ़ती राजनीतिक तपिश और सिर पर पंचायत चुनाव को देखते हुए योगी सरकार बैकफुट पर आ गई और किसान आंदोलन के खिलाफ एक्शन से अपने कदम को पीछे खींचना पड़ गया.

LEAVE A REPLY