हिंदू देवी-देवताओं के चित्रों वाले पटाखे हरगिज नहीं बिकने देंगें : कमलदेव जोशी

0
13

हिंदू देवी-देवताओं के चित्रों वाले पटाखे हरगिज नहीं बिकने देंगें : कमलदेव जोशी
अनुमति पत्र में इस तरह की चेतावनी को अंकित करने की जरूरत है : नीलम कालिया

जालंधर 11 अक्टूबर : भगवान परशुराम सेवा संघ के राष्ट्रीय चेयरमैन कमल देव जोशी ने कहा कि दिवाली के त्योहार पर पटाखे बेचने वाली कंपनियां अपनी मोटी कमाई करने के  लिए पटाखों पर देवी-देवताओं के चित्र लगाते हैं जो कि बिल्कुल गलत हैं। उन्होंने कहा कि दीपावली पर देवी देवताओं के नाम व चित्र वाली आतिशबाजी बाजार में काफी समय से आने लगी है और जो बच्चों के द्वारा जलाए जाने के बाद देवी देवताओं के चित्र पैरों में आते है जिससे हिन्दू भावनायें आहत होती है। श्री जोशी ने जिला प्रशासन से आग्रह किया है कि देवी देवताओं के सम्मान को मददेनजर रखते हुए आतिशबाजी बेचने के अनुमति पत्र में इस प्रकार के पटाखे न बेचने की चेतावनी को अंकित करने की जरूरत है और जिससे हिन्दू भावनायें भी आहत न हो। इस वर्ष जालंधर शहर में हिन्दू देवी-देवताओं की फोटो लगा कोई भी पटाखा या अन्य आतिशबाजी नहीं बिकने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि अगर इस बार भी ऐसे पटाखों की बिक्री हुई तो भगवान परशुराम सेवा संघ अपने स्तर पर इसे रोकेगी जिसकी सारी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

हिन्दू देवी-देवताओं की फोटो लगे पटाखे चलाना वैसे भी देवताओं का अपमान है। दिवाली के दूसरे दिन ऐसे हिन्दू देवी-देवताओं की फोटो लगे खराब पटाखें बीच सड़क में व नालियों में गिरे मिलते हैं जोकि खुलकर हिन्दू देवी-देवताओं का सरासर अपमान है।

 

भगवान परशुराम सेवा संघ की राष्ट्रीय प्रधान श्रीमती नीलम कालिया ने देवी देवताओं के चित्र वाली आतिशबाजियों को प्रतिबंधित किए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि भगवान परशुराम सेवा संघ इसका डट कर विरोध करेगी और डीसी जालंधर को धारा 144 में मिली शक्तियों का प्रयोग करते हुए देवी-देवताओं की फोटो लगे पटाखों पर पाबंदी लगाने के लिए कहा जाएगा।

LEAVE A REPLY