गिरफ्तार स्मगलर के मोबाइल से हुए अहम खुलासे, पुलिस अधिकारियों पर गिरी गाज

0
25

  • Google+

जालंधर ( राजीव भास्कर ) 16 मई

नशीले पदार्थ समेत गिरफ्तार किए सोनू के मोबाइल में से जहां एक तरफ पुलिस को अन्य स्मगलरों और उसके पार्टनरों के नंबर मिले हैं वहीं दूसरी तरफ़ पुलिस कमिश्नरेट जालंधर की काली भेडों के भी नंबर मिले हैं, जो हफ्ता वसूली के साथ-साथ उसे व्हाट्सएप पर मैसेज लिखकर शराब की पेटियों के आर्डर तक देते रहे हैं और स्मगलर अपने पंटरों जरिए शराब पुलिस आधिकारियों और कर्मचारियों तक पहुंचाते थे। अब मोबाइल की जांच में मिले आधिकारियों और कर्मचारियों के नंबरों के खुलासे के साथ पुलिस फोर्स में हड़कंप मचा हुआ है क्योंकि उक्त काली भेडें और कर्मचारियों को डर है कि कहीं सीनियर पुलिस अधिकारी इन सबूतों के आधार पर उनको सस्पैंड न कर दें। सी.आई.एए. स्टाफ की तरफ से गिरफ्तार किए गए स्मगलर सोनू के सिर पर कई पुलिस अधिकारियों का हाथ रहा है क्योंकि वह उनको हर महीने मिठाई के साथ-साथ अन्य कई तरह की आधिकारियों की बेगारों को भी बर्दाश्त करता था। कई अधिकारी अब जिले से बाहर पोस्टिंग करवा चुके हैं, उनकी भी व्हाट्सएप चैटिंग मिली है, जिसमें महंगी शराब की पेटियों की मांग की गई। इतना ही नहीं, कई अधिकारियों के साथ तो उसकी रोजमर्रा की लगभग 5-5 बार व्हाट्सएप पर बात भी होती रही है जिसके सबूत ए.डी.सी.पी. इन्वेस्टिगेशन गुरबाज सिंह तक पहुंच चुके हैं। थाना नंबर 1 और 8 के कर्मचारियों के मिले सबसे अधिक नम्बर पुलिस अधिकारी स्मगलर सोनू के पास से महीना लेने के साथ-साथ फ्री शराब का लुत्फ उठाते थे। सोनू के मोबाइल में से थाना नंबर 1 और 8 के कर्मचारियों के नंबर मिले हैं, जो उसे दिन में लगभग 3-3 बार फोन करते रहे हैं। इन सब की रिपोर्ट आला अधिकारियों के पास पहुंच चुकी है।

LEAVE A REPLY