नवजोत सिंह सिद्धू की रिहाई का समय तय, बदल सकते हैं समीकरण

0
15

  • Google+

नवजोत सिंह सिद्धू की रिहाई का समय तय हो गया है। वह रोड रेज मामले में 26 जनवरी को शाम सात बजे पटियाला जेल से सजा काटकर रिहा हो जाएंगे। उन्हें एक वर्ष की सजा हुई थी और अच्छे आचरण के कारण उन्हें समय पूर्व रिहा किया जा रहा है।

नवजोत सिंह सिद्धू की रिहाई का समय तय हो गया है। वह रोड रेज मामले में 26 जनवरी को शाम सात बजे पटियाला जेल से सजा काटकर रिहा हो जाएंगे। उन्हें एक वर्ष की सजा हुई थी और अच्छे आचरण के कारण उन्हें समय पूर्व रिहा किया जा रहा है। सिद्धू की रिहाई की तारीख पास आते ही कांग्रेसी नेताओं की अंदरूनी राजनीति इंटरनेट मीडिया पर तेज होती जा रही है।

जेल में सिद्धू से मुलाकात कर रहे उनके आलोचक 

खास बात यह है कि जो लोग किसी समय नवजोत सिंह सिद्धू के कड़े आलोचक रहे हैं, वह जेल में सिद्धू से मुलाकात कर रहे हैं। इसमें श्री आनंदपुर साहिब से सांसद मनीष तिवारी भी एक हैं। वह तीन बार जेल में सिद्धू से मुलाकात कर चुके हैं। वहीं शनिवार को मनीष के नजदीकी नेता पवन दीवान ने एक ट्वीट करके कहा कि पंजाब जल्द ही राजनीति की एक नई लहर को देखेगा। सिद्धू जेल से रिहा होने के बाद कांग्रेस में क्या भूमिका निभाएंगे, इस बारे में अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं है। पिछले दिनों प्रियंका गांधी वाड्रा ने जब सिद्धू को पत्र लिखा था, तब से ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि कांग्रेस हाईकमान उनकी (सिद्धू) भूमिका को लेकर अभी से रणनीति तय कर रहा है। सिद्धू है नवतेज चीमा के करीब 

वहीं, मनीष तिवारी जैसे नेताओं के सिद्धू से जेल में मुलाकात को लेकर सिद्धू के करीबी नेताओं में संशय है। सिद्धू के करीबी एक नेता का कहना है कि मनीष भरोसेमंद नहीं हैं, क्योंकि कांग्रेस हाईकमान के साथ उनके रिश्ते अच्छे नहीं हैं। ऐसे में वह खुद सिद्धू से मिलने के लिए जेल में जाएंगे, ताकि स्थिति स्पष्ट हो सके। अभी तक जिस नेता पर सिद्धू सबसे ज्यादा भरोसा कर रहे हैं, वह सुल्तानपुर लोधी के पूर्व विधायक नवतेज सिंह चीमा हैं। किस नेता से सिद्धू मिलना चाहते हैं और किससे नहीं, सिद्धू इसके बारे में केवल नवतेज चीमा को ही बताते हैं। कई दिग्गजों को तो सिद्धू ने मिलने से इन्कार भी कर दिया था।

सिद्धू के आने के बाद कांग्रेस में हो सकती है उथल-पुथल

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग के प्रतिद्वंद्वी और पूर्व वित्त मंत्री मनप्रीत बादल भी सिद्धू से मिलकर आए हैं। किसी समय प्रताप सिंह बाजवा के काफी करीब रहे एक अन्य कांग्रेसी नेता का कहना है कि नवजोत सिंह सिद्धू के जेल से आने के बाद पंजाब कांग्रेस में काफी उथल पुथल हो सकती है। उनका कहना है कि हम उनके आने का इंतजार कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY