पंजाब में जिला कार्यालय के समक्ष खालिस्तानी झंडे लहराए जाना पंजाब सरकार के फेलियर का नतीजा।

0
21

  • Google+

अश्वनी शर्मा ने पटियाला में घटित दुर्भाग्यपूर्ण घटना का वहां पहुँच लिया जायजा।

 शर्मा ने इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना की जांच कर आरोपियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी सज़ा की उठाई माँग।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संग अन्य नेता पटियाला के काली माता मंदिर में हुए नतमस्तक, शांति और सद्भावना के लिए की अरदास।

अश्वनी शर्मा ने पंजाब वासियों से शांति और सद्भावना बनाए रखने का किया आह्वान।

 

पटियाला में घटित हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा के नेतृत्व प्रदेश भाजपा के नेताओं ने पटियाला पहुंच कर वहां के गणमान्य लोगों से मिलकर जहाँ हालात का जायजा लिया, वहीँ वहां के प्रसिद्ध काली माता मंदिर में नतमस्तक होकर माता जी का आशीर्वाद प्राप्त किया। इस अवसर पर भाजपा नेताओं ने माता जी के चरणों में पंजाब में शांति और सद्भावना के लिए प्रार्थना की। अश्वनी शर्मा के साथ प्रदेश महासचिव डॉ. सुभाष शर्मा, राजेश बागा, पूर्व मंत्री फ़तेहजंग सिंह बाजवा आदि उपस्थित थे।

अश्विनी शर्मा ने कहा कि पटियाला में हुई यह अति निंदनीय घटना आम आदमी पार्टी द्वारा रची गई एक सोची-समझी साजिश है। आम आदमी पार्टी पर राष्ट्र-विरोधी तत्वों से सांठ-गाँठ के आरोप शुरू से ही लगते आए हैं और खालिस्तानी विचारधारा वाला व्यक्ति पन्नू ने भी इस संबंध में स्पष्ट शब्दों में पुष्टि की है। ध्यान देने योग्य बात यह है कि जब से आम आदमी पार्टी पंजाब की सत्ता में आई है तभी से ही कुछ राष्ट्र विरोधी व् अराजकता फ़ैलाने तत्वों ने पंजाब में फिर से अपना सिर उठाना शुरू कर दिया है, जो कि पंजाब के लिए एक सीमावर्ती राज्य होने के चलते बहुत गंभीर चिंता का विषय है। पिछले डेढ़ महीने में दो बार जिला कार्यालयों के समक्ष खालिस्तानी झंडे फहराए जा चुके हैं, जिसके स्पष्ट संकेत हैं कि पंजाब में खालिस्तान का मुद्दा एक बार फिर गर्माने लगा है। मुख्यमंत्री भगवंत मान तथा उनके प्रशासन को पंजाब में अपराधियों द्वारा पुलिस को धत्ता बताते हुए अंजाम दी जा रही हत्याओं व् लूट-मार की घटनाओं तथा इस सब से परिचित होने के बाद भी कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए गए। पुलिस की आँखों के सामने इतनी बड़ी घटना को होने दिया गया, यह बहुत गंभीर चिंता का विषय है।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि पंजाब जो कि आतंकवाद के लंबे अंधेरे काले दौर से गुजरा है, वहां ऐसी धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाली घटनाओं को पुलिस की आँखों के सामने होने दिया जाना, यह सोचने का गंभीर विषय है कि इसके पीछे किसका और क्या मकसद है? पंजाब के सद्भाव को बिगाड़ने का जोखिम नहीं उठाया जा सकता। इस घटना के भविष्य में भी दूरगामी परिणाम हो सकते हैं। भारतीय जनता पार्टी के नेता एवं कार्यकर्ता जनता के साथ आतंकवाद के उस भयावह दौर से गुजरे हैं और अब पंजाब वासी तथा भाजपा पंजाब या देश में किसी भी राष्ट्र विरोधी ताकत के नापाक मंसूबों को कामयाब नहीं होने देगी।

अश्वनी शर्मा ने सभी पंजाब वासियों से शांति और सद्भावना बनाए रखने का आह्वान करते हुए कहा कि हम सब को बड़ी परिपक्वता और संवेदनशीलता के साथ काम करना होगा, ताकि राष्ट्र-विरोधी व् अराजकता फ़ैलाने वाले तत्वों के नापाक मंसूबों पर पानी फेरा जा सके। अश्वनी शर्मा ने इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग करते हुए इस घटना के आरोपियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग की, ताकि भविष्य में पंजाब में ऐसी घटनाओं को रोका जा सके।

LEAVE A REPLY